Dumb-Heart's Voice

kuch Baaten jo Dil me ankahi reh gyi

Archive for the tag “FAMINE”

Boondon se bhar le daaman


XYZ

credits: artist@tumbhi.com

नदियाँ सूख गयी हैं
धरती पर आने लगी है दरारें
ममता के दूध के सहारे
बचपन कब तक ज़िंदगी गुज़रे!

ना कहीं छावों है
बस धूप मे सुलगते पावं है|
माँ की आँचल भी सूख गयी है
ये देखकर भी मेघ क्यू इतना निर्दयी है? 😦 😥

……..

पर आज लगता है  😀
लाचारी की चीख ने इंद्र की आँखें खोली है
आज तो बस सबको बूँदों से खेलनी होली है|

नदियाँ फिर से बह जाएँगी
दरारों से अंकुर फुट कर निकलेंगे
आँचल की ठंडक लौट कर आएगी
आज सारी बूँदों को दामन मे अपने  समेट लेंगे!

Post Navigation

%d bloggers like this: